Sunday, June 16, 2024
HomeNewsagriculture28 हेक्टेयर में बन रहा एक मेगा फूड पार्क जो ...

28 हेक्टेयर में बन रहा एक मेगा फूड पार्क जो बिहार कृषि उद्योग को गतिशील बनाएगा

Published on

बिहार कृषि के क्षेत्र में ना सिर्फ आत्म निर्भर है बल्कि अनाज, सब्जी और फल उत्पादन में ये क्रमशः दूसरे ,तीसरे और चौथे नंबर पर आता है ।
लेकिन उचित रखरखाव और फ़ूड प्रोसेसिंग की बेहतर इंतजाम न होने की वजह से बिहार को इसका समुचित लाभ नहीं मिल पाता था ।लेकिन ऐसा प्रतीत होता है की आने वाले दिनों में ये परेशानियां नहीं रहेगी ।दरअसल बिहार सरकार और भारत सरकार ने बिहार की कृषि क्षेत्र का अधिक से अधिक उपयोग करने के लिए कई जगहों में फ़ूड पार्क खोलने का विचार किया है ,जिसकी पहली कड़ी में वो बिहार के खगड़िया जिले के मानसी में एक अत्याधुनिक मेगा फ़ूड पार्क बना रही है आइये जाने इसके बारे में

लोकेशन

प्रिस्टिन मेगा फूड पार्क बिहार राज्य के खगड़िया शहर के बाहरी इलाके मानसी में 70 एकड़ क्षेत्र में बन रहा है । इस परियोजना के लिए 70 एकड़ जमीन बिहार इंडस्ट्रियल एरिया एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ने उपलब्ध कराई है। यह परियोजना प्रेस्टिन लॉजिस्टिक्स और इंफ्राप्रॉजेक्ट्स द्वारा भारत खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय (MOFP ) के साथ एक समझौते के तहत विकसित किया जा रहा है।

prestine food park khagaria location

फ़ूड पार्क कनेक्टिविटी
खगड़िया जिला जहाँ यह प्रेस्टिने मेगा फूड पार्क बन रहा है वह अच्छी तरह से पास के एक राष्ट्रीय राजमार्ग के जरिये देश के बाकी हिस्सों से जुड़ा है और यहाँ उत्तर पूर्वी राज्य को देश के बाकी हिस्सों को जोड़ने वाला एक प्रमुख रेल जंक्शन भी है।

लागत और अनुमानित लाभ
भारत खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय ने कहा किइस परियोजना की .कुल लागत 128 करोड़ के आसपास होगी और अनुमानतः शुरुआत में इस मेगा फूड पार्क का टर्नओवर 500 करोड़ का होगा ।फ़ूड पार्क में 30-35 इकाइया एक साथ आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर के सहयोग से काम करेगी

इस प्रोजेक्ट के पूरा होने पर फूड पार्क निम्न सुविधा में सक्षम में जाएगा

1)140000 टन सूखा अनाज रखने का वेयर हाउस

2)10000 टन ग्रेन साइलो,

3)5000 टन  मल्टीप्रोडक्ट्सकोल्ड स्टोरेज

4)10 टन पैकिंग घंटे पैकिंग घर

 5)2 टन पर घंटा IFQ ,

6)1500 टन गहरी फ्रिज होगा

7)साथ ही पार्क में आधुनिक परीक्षण प्रयोगशालाओं के साथ और वैन रीफर होगा ।

परियोजना से आम जीवन को फायदे

इस बहुआयामी परियोजना का लाभ क्षेत्र के 30000 किसानों को होगा |यह राज्य में रोजगार की अपार सम्भावना पैदा करेगा । बिहार राज्य में किसानों,मजदुर , उत्पादकों, फ़ूड प्रोसेसर उधमी और उपभोक्ता को लाभ होगा।

कब तक तैयार होगा
ताजा जानकारी के अनुसार ये बहुउद्देशीय पार्क 2018-2019 के बीच बन कर तैयार हो जायेगा|

Facebook Comments

Latest articles

खगड़िया जिला स्थापना दिवस : मक्का और दूध का अद्भुत उत्पादन करता है यह ज़िला

बिहार के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में स्थित खगड़िया जिला ने अपने 44वें वर्ष में प्रवेश...

राजगीर का शायक्लोपिएन दीवार

राजगीर में स्थित शायक्लोपिएन दीवार ( चक्रवात की दीवार) मूल रूप से चार मीटर...

बिहार के तीसरे चरण के लोकसभा चुनाव में पांच सीटों के समीकरण

बिहार के तीसरे चरण के लोकसभा चुनाव में पांच सीटों के समीकरण इस प्रकार...

सिलाई मशीन योजना ऑनलाइन आवेदन 2024: महिला सशक्तिकरण के लिए मुफ्त सिलाई मशीन योजना

क्या है सिलाई मशीन योजना ? भारत सरकार ने महिलाओं को सशक्त बनाने के उद्देश्य...

More like this