Friday, May 24, 2024
HomeFOODIE BIHARRecipes of biharपरवल की मिठाई की रेसिपी।

परवल की मिठाई की रेसिपी।

Published on

यह बिहारी व्यंजन मुख्य रूप से शाकाहारी है क्योंकि परंपरागत बिहारी समाज, जो बौद्ध और हिंदू मूल्यों से प्रभावित है,

तैयारी का समय: 11-15 मिनट

कुक समय: 11-15 मिनट

अगर आप परवल की मिठाई घर में बनाना चाह रहे हैं तो ये बनाना बिलकुल ही आसान है ..तो आइये कोशिश करते हैं परवल की मिठाई बनाने की

परवल की मिठाई की रेसिपी।

सामग्री परवल की मिठाई के लिए |
परवल – 5 मध्यम साइज वाले
पानी – परवल उबालने के लिए

भरावन के लिए

मावा / खोआ – 1/2 कप
पिसी चीनी / बूरा – 1/4 कप
इलायची पाउडर – 1 चुटकी
ड्राई फ्रूट्स (बादाम, पिस्ता) – 1 (बारीक कटे हुए)
चाशनी के लिए
पानी – 1 कप
चीनी – 1 कप

परवल की मिठाई बनाने की विधि |
1. परवल की मिठाई बनाने के लिए, परवल को काटने वाले चाकू से रगड़कर छील लें। पीलर / छीलनि (छीलने वाले चाकू) से न छीलें।

2. सारे परवल में लम्बाई में चीरा लगाकर, उसके अंदर से बीज और गूदा निकाल कर उसे खोखला कर लें।

3. एक पतीले में तेज आंच पर पानी उबालने रख दें, जब पानी में उबाल आ जाए तब उसमें छिले हुए परवल डाल दें और परवल के नरम होने तक उबाल लें।

4. परवल को पानी में से निकाल लें और ठंडा होने दें।

5. अब चाशनी बना लें। चाशनी बनाने के लिए एक कड़ाही में पानी और चीनी को मध्यम आंच पर उबलने के लिए रख दें, जब चीनी घुल जाए और पानी उबलने लगे तब छिले हुए परवल उसमें डालें और एक तार की चाशनी बनने तक उन्हें उबलने दें।

6. गैस बंद कर दें और परवल की एक घंटे तक चाशनी में डूबे रहने दें। फिर परवल को चाशनी में से निकाल लें। परवल भरने के लिए तैयार हैं।
7. भरावन के लिए, एक कड़ाही में मावा लें और धीमी आंच पर उसे हल्का क्रीम / पीला रंग होने तक भून लें।

8. अब मावे में पिसी चीनी / बूरा, इलायची पाउडर और कटे हुए ड्राई फ्रूट्स डालकर मिलाएं।

9. इस भरवन को चाशनी में लिपटे हुए परवल में भरें।

10. कटे हुए बादाम से सजाएँ, परवल की मिठाई खाने के लिए तैयार है।

बिहार से जुडी अनेक रोचक जानकारी के लिए अपने इ मेल के द्वारा हमें सब्सक्राइब करे …

[gem id=1391812]

 

Facebook Comments

Latest articles

खगड़िया जिला स्थापना दिवस : मक्का और दूध का अद्भुत उत्पादन करता है यह ज़िला

बिहार के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में स्थित खगड़िया जिला ने अपने 44वें वर्ष में प्रवेश...

राजगीर का शायक्लोपिएन दीवार

राजगीर में स्थित शायक्लोपिएन दीवार ( चक्रवात की दीवार) मूल रूप से चार मीटर...

बिहार के तीसरे चरण के लोकसभा चुनाव में पांच सीटों के समीकरण

बिहार के तीसरे चरण के लोकसभा चुनाव में पांच सीटों के समीकरण इस प्रकार...

सिलाई मशीन योजना ऑनलाइन आवेदन 2024: महिला सशक्तिकरण के लिए मुफ्त सिलाई मशीन योजना

क्या है सिलाई मशीन योजना ? भारत सरकार ने महिलाओं को सशक्त बनाने के उद्देश्य...

More like this

बेलसंड का स्पेशल छेना जलेबी :एक लाज़वाब स्वादिस्ट व्यंजन

आपने शक्कर की जलेबी तो जरूर खायी होगी ,कभी गुड़ के सिरे में बानी...

इस गर्मी में पियें ,नींबू पुदीने का मसालेदार शरबत

गर्मिओं में अक्सर शरीर में पानी की कमी हो जाती है इसलिए लोग अक्सर...

बिहार के वे व्यंजन जो आपको बिल्कुल मिस नहीं करना चाहिए!

बिहार की ऐतिहासिक रूप से समृद्ध भूमि अपने व्यंजनों में भरपूर व्यंजनों के लिए...