Monday, May 20, 2024
Homeनए बिहार के सफल बिहारीबिहार स्टार्ट अप स्टोरी :दिलख़ुश कुमार जो पहले कभी रिक्शा चलाया और...

बिहार स्टार्ट अप स्टोरी :दिलख़ुश कुमार जो पहले कभी रिक्शा चलाया और सब्जी बेचा,आज देश भर के आईआईटी और आईआईएम के छात्रों को दे रहा रोजगार

Published on

बिहार में स्टार्टअप कल्चर की राह पर बढ़ते कदमों की रोशनी में, एक नजर दिलखुश कुमार की कहानी पर डालने से हमें यह यकीन होता है कि सपने सच हो सकते हैं। दिलखुश कुमार, जो पहले रिक्शा चलाता थे और सब्जी बेचता था , आज देश भर के आईआईटी और आईआईएम के छात्रों को रोजगार दे रहा हैं।

सपनों की उड़ान:


दिलखुश कुमार की कहानी वास्तव में प्रेरणादायक है। उनका सफर रिक्शा चलाने से लेकर एक करोड़ रुपये की कंपनी बनाने तक का रहा है। वह बिहार के सहरसा जिले के निवासी हैं और उन्होंने अपनी मेहनत और लगन से एक सफल उदाहरण सामने रखा है।

अपने सपनों का पुष्टिकरण:


दिलखुश कुमार ने बिहार में ओला उबर की तरह टैक्सी सर्विस शुरू करके बड़ा सपना देखा। उन्होंने यह सोचा कि बिहार के लोगों को भी उसी सुविधा का अनुभव मिलना चाहिए जो मेट्रोपोलिटन शहरों में है। इस विचार को प्रेरित होकर उन्होंने ‘रोडवेज’ नामक कंपनी की स्थापना की।

सफलता की मिशाल:


दिलखुश कुमार की ‘रोडवेज’ कंपनी का मिशन है 100 करोड़ की कंपनी बनाना।अभी कंपनी का वैल्यूएशन 5 करोड़ बताया जा रहा है। वह युवाओं को नौकरी देने के साथ-साथ, बिहार की बड़ी कंपनियों को भी टक्कर देने की योजना बना रहे हैं।

नई उम्मीदें:


दिलखुश कुमार की कहानी से साफ है कि सपनों को पूरा करने के लिए न केवल सोचने की आवश्यकता होती है, बल्कि मेहनत और लगन की भी। उनकी सफलता की कहानी बिहार के युवाओं को नई ऊर्जा और उम्मीद देती है, और उन्हें यह सिखाती है कि हर सपना साकार किया जा सकता है, बस उसके प्रति विश्वास और मेहनत होनी चाहिए।

Facebook Comments

Latest articles

खगड़िया जिला स्थापना दिवस : मक्का और दूध का अद्भुत उत्पादन करता है यह ज़िला

बिहार के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में स्थित खगड़िया जिला ने अपने 44वें वर्ष में प्रवेश...

राजगीर का शायक्लोपिएन दीवार

राजगीर में स्थित शायक्लोपिएन दीवार ( चक्रवात की दीवार) मूल रूप से चार मीटर...

बिहार के तीसरे चरण के लोकसभा चुनाव में पांच सीटों के समीकरण

बिहार के तीसरे चरण के लोकसभा चुनाव में पांच सीटों के समीकरण इस प्रकार...

सिलाई मशीन योजना ऑनलाइन आवेदन 2024: महिला सशक्तिकरण के लिए मुफ्त सिलाई मशीन योजना

क्या है सिलाई मशीन योजना ? भारत सरकार ने महिलाओं को सशक्त बनाने के उद्देश्य...

More like this

अभिषेक रंजन :चम्पारण का ये लाल लहरा चुका है देश विदेश में सफलता का परचम

जब इरादे बन जाये जुनून और जिंदगी मे रँग ही रँग बिखेर दे लगन... लाख...

इस बिहारी गर्ल ने मेडिकल प्रवेश परीक्षा एनईईटी मे धमाल मचा दिया

  सफलता उन लोगों के लिए होती है जो कड़ी मेहनत और धैर्य में विश्वास...

जानिये एक करोड़ प्लस सैलरी पाने वाली बिहार की गूगल गर्ल मधुमिता को

सफल होना किसे अच्छा नहीं लगता लेकिन हर एक सफल कहानी के पीछे कड़ी...