Sunday, June 16, 2024
HomeNewsक्या आपने पढ़ा है बिहार के इन दो भाईओं की दृढ संकल्प...

क्या आपने पढ़ा है बिहार के इन दो भाईओं की दृढ संकल्प की कहानी

Published on

ये कहानी है दो भाइयों की | पिता मदन पंडित किसान हैं और दोनों भाई बिहार के समस्तीपुर के निकट परोरिया गाँव के रहने वाले हैं
बड़े भाई कृष्णा को डेढ़ साल की उम्र में पोलियो हो गया था |दोनों पैर और एक हाथ ने काम करना बंद कर दिया लेकिन मन के किसी कोने में स्कूल जाने की इक्छा थी,लेकिन वो स्कूल जाने को असमर्थ था |बड़े भाई के पढ़ने की ललक को छोटे भाई ने भांप लिया |उसे देखते हुए छोटे भाई वसंत एक जिम्मा उठाया, वह रोज पीठ पर लादकर बड़े भाई को स्कूल ले जाने लगा |इसी तरह दोनों ने अपनी हाई स्कूल तक की की पढाई पूरी की |आगे की पढाई के लिए पिताजी ने दोनों भाईओं को कोटा में कोचिंग भेजा | तीन साल वहां रहकर दोनों ने पढ़ाई की | पहले की तरह भाई को पीठ पर लाने ले जाने का सिलसिला यहां भी जारी रहा |

आखिर दोनों की मेहनत और दृढ संकल्प रंग लाया और दोनों का सिलेक्शन आई आई टी में एक साथ हो गया |जहाँ कृष्णा को ओबीसी कोटे में ३८ वि रैंक प्राप्त हुई वही वसंत को ३७६९ रैंक मिली |
भाई के प्रति प्रेम की ऐसी मिसाल आपसब को कम ही देखने को मिलती है|

यह हमारी आईआईटी अधिकारियों से आशा है कि वे उन्हें आईआईटी के एक ही कैंपस में दाखिला दे ताकि वे अपने सपने को पूरा करने के लिए मिलकर काम कर सकें।

हमारी ओर से दोनों भाई और इनके परिवारों को शुभकामनाएं

Facebook Comments

Latest articles

खगड़िया जिला स्थापना दिवस : मक्का और दूध का अद्भुत उत्पादन करता है यह ज़िला

बिहार के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में स्थित खगड़िया जिला ने अपने 44वें वर्ष में प्रवेश...

राजगीर का शायक्लोपिएन दीवार

राजगीर में स्थित शायक्लोपिएन दीवार ( चक्रवात की दीवार) मूल रूप से चार मीटर...

बिहार के तीसरे चरण के लोकसभा चुनाव में पांच सीटों के समीकरण

बिहार के तीसरे चरण के लोकसभा चुनाव में पांच सीटों के समीकरण इस प्रकार...

सिलाई मशीन योजना ऑनलाइन आवेदन 2024: महिला सशक्तिकरण के लिए मुफ्त सिलाई मशीन योजना

क्या है सिलाई मशीन योजना ? भारत सरकार ने महिलाओं को सशक्त बनाने के उद्देश्य...

More like this

पटना मेट्रो: सातवें आसमान में उड़ान का इंतजार

पटना मेट्रो का निर्माण: एक सुरक्षित और तेज़ यातायात की ओर राजधानी पटना में मेट्रो...

पटना विश्वविद्यालय का नाम दक्षिण अमेरिका की सबसे ऊँची चोटी पर पहुँचाया मिताली प्रसाद ने

हौसला इंसान से उनके सपने पूरे कराने का माद्दा रखता है।कुछ ऐसा ही कारनामा...

बिहार की अंजलि ने किया कमाल, बनी विदेश में तैनात होने वाली पहली महिला विंग कमांडर

लड़कियां हमेशा देश का मान बढाती है, एक बार फिर बिहार ...