anjali singh wing commandar

लड़कियां हमेशा देश का मान बढाती है, एक बार फिर बिहार की बेटी ने पूरे बिहार का समूचे देश में मान बढ़ाया है।

दरअसल, समस्तीपुर जिले की अंजली सिंह भारतीय मिशन के तहत विदेश में तैनात होने वाली पहली महिला विंग कमांडर बन गई हैं। भारतीय वायु सेना ने उन्हें भेजा है।

17 वर्षों से सैन्य सेवा में


अंजलि की इस उपलब्धि से परिजनों के साथ-साथ उसके पैतृक गांव में भी खुशी का माहौल है। समस्तीपुर जिले के वारिसनगर प्रखंड के मकसूदपुर की रहने वाली अंजली ने देश के सैन्य इतिहास में एक नए अध्याय को जोड़ दिया है। वह किसी भी भारतीय मिशन में विदेश में तैनात होने वाली पहली महिला विंग कमांडर बनी है। वह 17 वर्षों से सैन्य सेवा में है।

पिता रह चुके हैं फ्लाइट लेफ्टिनेंट


अंजली के चाचा जनार्दन प्रसाद सिंह बताते हैं कि उनके पिता मदन प्रसाद सिंह भी वायु सेना में बतौर फ्लाइट लेफ्टिनेंट (flight lieutenant) के रूप में देश की सेवा कर चुके हैं। पिता के नौकरी में होने के वजह से उनकी पढ़ाई-लिखाई भी बिहार से बाहर ही हुई। उसने इलेक्ट्रॉनिक्स और दूरसंचार (Electronics & Telecommunication) से इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के बाद दो वर्षों तक भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड में नौकरी भी की। उसके बाद उसने पिता से प्रेरित होकर SSB की परीक्षा उत्तीर्ण होकर वायु सेना कार्यरत हो गई। भारतीय वायु सेना में नया इतिहास रचने वाली अंजली की इस सफलता को लेकर उनके पैतृक गांव में रह रहे उनके भतीजे और भतीजी भी बहुत प्रसन्न हैं। वो बताते हैं कि कामयाबी के लिए कड़ी मेहनत तथा लगन की आवश्यकता होती है।

Facebook Comments