पिरिकिया (स्वादयुक्त खोवा और सूजी भरी मिठाई ):::: जाने रेसिपी

0
121
recipe-of-pirikiya or gujiya
recipe-of-pirikiya or gujiya

बढ़ते बिहार का साथ दीजिये …जुड़िये हमारे पेज से और विचारों के माध्यम से बिहार की तरक्की में योगदान दे
अगर आप बिहार से है तो आपने पीरिकीया का स्वाद जरूर चखा होगा |वैसे लोग जो इस शब्दावली से पहली बार रूबरू हो आरहे है उनके लिए बता दूँ की यह मिठाई को लोग बरे चाव से खाते हैं |मुख्य रूप से इसकी शुरुआत बिहार के छपरा शहर से हुई | यह संभवतः बिहार की सबसे मशहूर तली हुई मिठाई है जिसे (सूजी), खोया या नारियल के साथ भर कर बनाया जाता है वैसे विशेष रूप से यह बिहार के त्योहारों के दौरान बनाया जाता है ..
आइये आज हम जाने की आखिर यह प्रसिद्द मिठाई बनती कैसे है
सामग्री:

बाहरी परत के लिए:

सादा आटा या मैदा – 3 कप

मक्खन या घी – 4 चम्मच

पानी – 3/4 कप कप + 1 बड़ा चमचा

भरने के लिए:

सूजी या सूजी / सुजी – 1 कप

दानेदार चीनी – 1 कप

इलाची पाउडर के 1 चम्मच

किशमिश (किश्मिश) – 1/3 कप

बादाम (बादाम) – 1/3 कप

काजू (काजू) – 1/3 कप

Desiccated नारियल (नारीयाल बुरा) – 1 कप

चारोली (या चिरोंजी) बीज – 1 बड़ा चमचा

तरबूज (Magaz) बीज – 1 बड़ा चमचा

खस्ता खा (खा खा) – 2 चम्मच

स्पष्ट मक्खन या घी – 1 बड़ा चमचा

पीरिकीया बंधन के लिए अनुपातः 1 बड़ा चमचा आटे या मैदा लें और 3 चम्मच पानी के लें

पेडिकिया फ्राइंग के लिए तेल,रिफाइंड तेल ,या सूरजमुखी तेल का इस्तेमाल किया है।

तैयारी

एक बड़े कटोरे में, 4 चम्मच स्पंदित मक्खन (घी) को आटे में मिलाएं । अपने हाथों की उंगलियों से धीरे से मिक्स करें, । मिश्रण के साथ पानी जोड़ें और आटा बनाने के लिए गूंधिये।जब यह गुंथा जाये तो एक नम सूती कपड़े के साथ आटा को कवर करें और इसे 2 घंटे के लिए फ़्रीज़ में रखकर ठंडा करें।

एक गर्म पैन में मक्खन या घी को डालें करें और एक मध्यम कम लौ पर लगातार सूजी को भुने ,जब तक ये सुनहरे भूरे रंग के रूप में बदल दन जाये । सूजी को एक तरफ रखें और कमरे के तापमान में ठंडा होने दें।

दानेदार शक्कर का अच्छा पाउडर बनाकर इसे मिक्सर / ग्राइडर में पीसकर रखें। सूजीदार नारियल (खोपड़ा पाउडर / नारीयाल का बुरादा), खसखस ​​(खास खाना) और चीनी पाउडर को सूजी में मिलाएं ।
मिक्सर जार में, किशमिश (किश्मिश), काजू (काजू), बादाम (बादाम), चारोली बीज (चिरंजीजी) और तरबूज (मेगाज़) बीज डालते हैं।फिर इसे पीस दिया जाये की यह चूर्ण बन जाए

अब भुना हुआ नट , बीज और इलायची (एलाइची) पाउडर को कटोरे में पाउडर चीनी, सुखा हुआ नारियल, भुना हुआ सूजी (सूजी) और तरबूज के बीज के साथ मिलाएं ।
अपने हाथों से अच्छी तरह से सभी चीजों को मिलाएं ताकि कोई गांठ नहीं रह जाए । अब आटा रोल और बराबर आकार के छोटे गांठ तैयार करें |अब उसको गोल से बाहर करने के लिए सभी गांठों को रोल करें और सभी गेंदों को एक कटोरे में या एक जगह पर रख दें और उन्हें एक नम कपड़े से ढक दें।

 एक छोटी कटोरी में, मैदा का एक बड़ा चमचा डालें और पर्याप्त पानी मिलाएं और अच्छी तरह से मिलाएं और एक पतली पेस्ट बनायें जिसका उपयोग पेडाकीया के किनारों को बाँधने के लिए किया जाएगा।
एक गेंद को लें और रोलिंग पिन (बेलान) का उपयोग करके इसे रोल करना शुरू करें।

इसे थोड़ा पतला रोल करें या बस अपने गुजिया ढालना में फ़िट करें। Gujiya मोल्ड खोलें और मोल्ड में भरने के लिए पेडकीया भरें, उतना ही सामग्री उस मोल्ड में डालें जो प्रयाप्त हो |परत के किनारों पर तैयार पतली पेस्ट को लगाएं
किनारों पर ढालना दबाएं और अपने हाथों सेबचा हुआ आता निकल दें ।

एक कडाई में पर्याप्त तेल गरम करें और सभी पेडाकीया को तलना शुरू करें ,इसे तब तक तलें जब तक ये सुनहरे भूरे रंग में न हो जाएँ ।
पेडकीया को तेल अवशोषित पेपर में निकालें, इसे शांत करने दें। अब आपका स्वादिष्ट मिठाई तैयार है |इसे खाएं और डिब्बा में भर के अपने रिश्तेदारों और मित्रों को भी दे |

आप इसे एक हफ्ते से अधिक हवा में तंग कंटेनर में स्टोर कर सकते हैं |

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here