बरौनी रिफाइनरी से जुडी कुछ दिलचस्प बातें

0
1293
बरौनी रिफाइनरी से जुडी कुछ दिलचस्प बातें

इंडियन आयल का एक तेलशोधक कारखाना बिहार के बरौनी में है । बरौनी रिफाइनरी को 4 9 .4 करोड़ रुपये की लागत से सोवियत संघ के सहयोग से बनाया गया था । शुरुआत में बरौनी रिफाइनरी की प्रारंभिक क्षमता 1 एमएमटीपीए थी जो 19 6 9 तक 3 एमएमटीपीए तक बढ़ा दी गई थी। इस रिफाइनरी की वर्तमान क्षमता 6.100 एमएमटीपीए है।

अब बात करते हैं इस रिफाइनरी के अस्तित्व में आने की कहानी

IOC-Refinery barauni

बरौनी रिफाइनरी रूस और रोमानिया के सहयोग से बनाई गई थी। पटना से 125 किलोमीटर (78 मील) स्थित, यह 49.40 करोड़ रुपये की शुरुआती लागत के साथ बनाया गया था। बरौनी रिफाइनरी को 1 9 64 में प्रति वर्ष 1 मिलियन मीट्रिक टन (एमएमटीपीए) की शुद्धिकरण क्षमता के साथ शुरू किया गया था और यह जनवरी 1 9 65 में तत्कालीन केंद्रीय पेट्रोलियम, प्रो हुमायूं कबीर ने राष्ट्र को समर्पित किया गया था।

Humayun_Kabir

कारखाने की क्षमता में वृद्धि

डी-बॉटलिंग सुधार और विस्तार परियोजना,के बाद इसकी क्षमता आज 6.1 एमएमटीपीए है। बाद में इस कारखाना में द्वितीयक प्रसंस्करण सुविधाओं जैसे कि अवशेष फ्लुइडाइज्ड उत्प्रेरक क्रैकर (आरएफसीसी), डीजल हाइड्रो ट्रीटिंग (डीएचडीटी), सल्फर रिकवरी यूनिट (एसआरयू) को जोड़ा गया है। अनुकूल प्रौद्योगिकियों के उपयोग के बाद रिफाइनरी ने खुद को अंतर्राष्ट्रीय मानकों का पालन करने वाले पर्यावरण-अनुकूल हरे ईंधन का उत्पादन करने में सक्षम बनाया है।

1 99 7 में अनलेडेड मोटर स्पिरिट के उत्पादन के लिए एक उत्प्रेरक सुधारक इकाई (सीआरयू) को रिफाइनरी में भी जोड़ा गया था। भविष्य की ईंधन गुणवत्ता आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए परियोजनाओं की भी योजना बनाई गई है।


बरौनी में क्रूड आयल कहाँ से मंगवाया जाता है
बरौनी रिफाइनरी को शुरुआत में असम के कम सल्फर कच्चे तेल (मीठे कच्चे) को साफ़ करने के लिए डिजाइन किया गया था। चूँकि अब पूर्वोत्तर में अन्य रिफाइनरियों की स्थापना हो चुकी है , इसलिए असम क्रूड आयल अब बरौनी में साफ़ नहीं कराया जाता है। बरौनी रिफाइनरीके लिए नाइजीरिया, इराक और मलेशिया जैसे अफ्रीकी, दक्षिण पूर्व एशियाई और मध्य पूर्व देशों से मीठे कच्चे तेल को इम्पोर्ट किया जा रहा है।

बरौनी तक क्रूड आयल पहुँचने का माध्यम
रिफाइनरी को पूर्वी तट पर हल्दीया के माध्यम से पारादीप से पाइपलाइन द्वारा क्रूड ऑयल प्राप्त होता है।

वर्तमान गतिविधियां 

बरौनी रिफाइनरी में अगले वर्ष से शुरू होने जा रही बीएस-6 ग्रेड ईंधन के उत्पादन हेतु परियोजना
बरौनी रिफाइनरी में अगले वर्ष से शुरू होने जा रही बीएस-6 ग्रेड ईंधन के उत्पादन हेतु परियोजना

अगले वर्ष से बरौनी रिफाइनरी में शुरू होने जा रही बीएस-6 ग्रेड ईंधन के उत्पादन हेतु परियोजना की  गतिविधियां भीजोर शोर से चल रही है। इसी कड़ी में अब तक रेडियंट मॉड्यूल के हीटर-3 (904-एफ- 03) की स्थापना प्राईम- जी यूनिट के आधार पर की गई। अब तक तीन में से दो हीटरों की स्थापना की जा चुकी है और तीसरे हीटर के स्थापना का कार्य भी तेजी से जारी है।

भविष्य सुधार की योजना

प्राप्त जानकारी के अनुसार बरौनी रिफाइनरी की क्षमता 9 एमएमटीपीए करने की बात चल रही है

 

कैसी लगी आप सब को बरौनी रिफाइनरी से जुडी ये जानकारी .

निचे कमेंट कर बताएं

Facebook Comments