बिहार में चाय की खेती :जानिये कुछ बातें

0
1204
tea garden in kishanganj

अगर आप सोच रहे हैं की बिहार में फल ,अनाज और सब्जियों के अलावा कोई अन्य चीज नहीं उपजती हैं तो आप गलत हैं ।आज अहम बात करने जा रहे हैं बिहार में होने वाले चाय की खेती की

 

tea graden in kishanganj

 

बिहार में चाय की खेती सर्वप्रथम 1982 में किशनगंज जिले में आधा हेक्टेयर भूमि में शुरू की गयी थी

tea garden in kishanganj

तेज विकास और विस्तार के चलते अब राज्य के २५ एकड़ जमीन पर चाय की खेती हो रही है|

हांलांकि ज्यादातर किशनगंज जिले में ही चाय की खेती होती है लेकिन अब पूर्णिया ,कटिहार और अररिया जिलों में भी चाय की खेती की शुरुआत हो गयी है|इन सफल बढ़ोतरी से इस क्षेत्र के बहुत से लोगो को रोजगार मिल गयी है |

tea garden in kishanganj
फ़िलहाल किशनगंज में 5 चाय रिफाइनिंग मशीन कार्यरत है लेकिन अब इसकी संख्या 20 करने की मांग हो             रही है क्योंकि बिहार में चाय के उपज में वृद्धि हो चुकी हैं इसलिए फ़िलहाल चाय रिफाइनिंग के लिए बिहार को             पश्चिम बंगाल के संयंत्रों पर निर्भर रहना पड़ता है

tea garden in kishanganj
ऊपर लिखे गए तथ्यों के जरिये हम यह कहना चाह रहे है की राज्य में आधौगिक स्तर पर चाय की खेती

अत्यंत सम्भावनापूर्ण है और अब सरकार को इसे अपनी योजनाओं के जरिये प्रोत्साहित करनी चाहिए और

राज्य के उधमी को भी इस क्षेत्र में हाथ आजमा कर बिहार की अर्थव्यवस्थ्ता को बढ़ने में सहायता करनी चाहिए |

Facebook Comments